​वो मेरे दिल पर..

वो मेरे दिल पर सिर रखकर,
सोई हुई थी बेखबर..
हमने धड़कन ही रोक ली,
कहीं उसकी नींद ना टूट जाए..

Advertisements
Tagged with:
Posted in Shayari

खूश्बु कैसे ना आये..

खूश्बु कैसे ना आये मेरी बातों से यारों,
मैंने बरसों से एक ही फूल से जो मोहब्बत की है..

Tagged with:
Posted in Shayari

मुझे आदत नहीं..

मुझे आदत नहीं यूँ हर किसी पे मर मिटने की,
पर तुझे देख कर दिल ने सोचने तक की मोहलत ना दी..

Tagged with:
Posted in Shayari

लोग इन्सान देखकर..

लोग इन्सान देखकर मोहब्बत करते हैं,
मैने मोहब्बत करके इन्सानों को देख लिया..

Tagged with:
Posted in Shayari

दोनों की पहली चाहत..

दोनों की पहली चाहत थी,
दोनों टूट के मिला करते थे..
वो वादे लिखा करती थी,
मैं कसमे लिखा करता था..

Tagged with:
Posted in Shayari

आओ ले चलें इश्क..

आओ ले चलें इश्क को वहाँ तक,
जहाँ फिर से कोई कहानी बने..
जहाँ फिर कोई गालिब नज्म़ पढे,
फिर कोई मीरा दिवानी बने..

Tagged with:
Posted in Shayari

इश्क़ वो नहीं जो..

इश्क़ वो नहीं जो तुझे मेरा कर दे,
इश्क़ वो है जो तुझे किसी और का ना होने दे..

Tagged with:
Posted in Shayari

खुद ही दे जाओगे..

खुद ही दे जाओगे तो बेहतर है,
वरना हम दिल चुरा भी लेते हैं..

Tagged with:
Posted in Shayari

उसकी मुहब्बत का सिलसिला..

उसकी मुहब्बत का सिलसिला भी क्या अजीब है,
अपना भी नहीं बनाती और किसी का होने भी नहीं देती..

Tagged with:
Posted in Shayari

यह ज़िन्दगी बस सिर्फ..

​यह ज़िन्दगी बस सिर्फ पल दो पल है,
जिसमें न तो आज और न ही कल है..
जी लो इस ज़िंदगी का हर पल इस तरह,
जैसे बस यही ज़िन्दगी का सबसे हसीं पल है..

Posted in Shayari